लेस्बियन और गे लिप लॉक करने वाले बॉलीवुड स्टार

Views:841

शबाना आजमी और नंदिता दास के बीच फायर फिल्म का लिप लॉक अच्छे से याद होगा। 1996 की आयी इस विवादास्पद फिल्म ने घरेलू समलैंगिक संबंधों के बारे में बात की थी। आज की हमारी पोस्ट लेस्बियन और गे किसिंग दृश्यों पर आधारित है। बॉलीवुड में अब तक सनसनीखेज सनी लियोन और 'सरबजीत' अभिनेता रणदीप हुड्डा समलैंगिक वासनोत्तेजक दृश्य दे चुके है। आइयें जानते है बॉलीवुड के उन सितारों और फिल्मों का नाम जिनमें समलैंगिक लिप लॉक और हॉट दृश्य है।



सनी लियोन और संध्या मृदुल : 2014 में रिलीज हुई रागिनी एमएमएस 2 फिल्म में वैसे तो सनी ने कई बोल्ड इंटिमेट और सेक्सुअल दृश्य दिए थे लेकिन संध्या मृदुल के साथ किया हुआ लेस्बियन लिप लॉक अधिक चर्चित हुआ था। डायरेक्टर की मांग पर सनी-संध्या ने लिप लॉक का यह सीन शूटिंग के समय बड़ी सहजता से दे दिया था।



रणदीप हुड्डा और साकिब सलीम : भारतीय सिनेमा जगत के सौ वर्ष पूरे होन पर चार अलग-अलग डायरेक्टरों द्वारा निर्मित बॉम्बे टॉकीज़ अपने गे किसिंग सीन की वजह से काफी दिनों तक सुर्ख़ियों में थी। अलग-अलग स्टोरी पेश करने वाली इस फिल्म में अविनाश बने साकिब सलीम को अपने बॉस देव( रणदीप हुड्डा) से प्यार होता है देव को जब यह पता चलता है उस समय दोनों के बीच एक लिप लॉक साँझा होता है जिस पर कई लोगो को एतराज हो सकता है।



शबाना आजमी और नंदिता दास : फायर फिल्म इंडियन कॉमेडियन ड्रामा फिल्म थी। बोल्ड कंटेंट पर आधारित यह फिल्म रिलीज के समय से पहले ही कॉन्ट्रोवर्सी में आ गयी थी। अपने पति के द्वारा प्रेम की ठुकराई ये महिलाएं आपस में लेस्बियन रिश्ता कायम कर लेती है। फिल्म में शबाना आजमी और नंदिता दास के बीच इंटिमेट और लिप लॉक सीन फिल्माएं गये थे जिसके बाद भारतीय संस्कृति की दुहाई देते हुए काफी हो-हल्ला किया गया था।



राहुल बोस और अर्जुन माथुर : हिन्दी, अंग्रेजी, कन्नड़, मराठी, बंगाली और कश्मीरी भाषा में रिलीज होने वाली यह फिल्म ओमर,अफिया, अभिमन्यु एंड मेघ के जीवन पर आधारित थी। फिल्म के विषय ओमर गे राइट्स, अफिया चाइल्ड एब्यूज मेघा कश्मीरी पंडित और अफिया स्पर्म डोनेशन पर आधरित थे। इस फिल्म में राहुल बोस और अर्जुन माथुर ने लिप लॉक दिया था जो काफी चर्चित था।



हृषिता भट्ट का किसिंग सीन : जिज्ञासा फिल्म की स्टोरी जिज्ञासा माथुर (हृषिता भट्ट द्वारा निभाई गयी भूमिका) की थी जो एक मासूम मध्यवर्गीय परिवार और एक स्कूल शिक्षक मालिनी माथुर की बेटी थी। जिज्ञासा एक फिल्म स्टार बनना चाहती है और वह इसके लिए किसी भी हद तक जा सकती थी। पांच साल की समय अवधि के भीतरजिज्ञासा शीर्ष तक पहुँचती है लेकिन स्टारडम की इस यात्रा में बॉलीवुड की भावनाएँ, लेस्बियन सेक्स, शासन, गंदा सेलिब्रिटी गपशप, फिल्म-राजनीति, दुर्व्यवहार, रग्स, ग्लैमर दुराचार, विकृतियों और अंडरवर्ल्ड कनेक्शन को दर्शाती है। इस फिल्म में हृषिता भट्ट के अपने मुकाम तक पहुचने के लिए लड़की को किस करना पड़ता है। फिल्म अपने बोल्ड विषयों की वजह से अधिक कॉन्ट्रोवर्शियल बन गयी थी।



कपिल शर्मा और युवराज पाराशर : डोन्नो वाई न जाने क्यों नाम की फिल्म में कपिल शर्मा और युवराज पाराशर ने समलैंगिक प्रेम दृश्य पेश किया था। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई पुरस्कार जीतने वाली इस फिल्म को गे फिल्म के नाम से प्रचार मिला था। इस फिल्म के खिलाफ पुलिस स्टेशन में शिकायतें भी दर्ज कराई गयी थी।



लिसा रे और शीतल सेठ : 2008 में रिलीज हुई यह फिल्म लेस्बियन रोमांस पर आधारित थी। ब्रिटिश भारतीय प्यार को दर्शाते हुए इस फिल्म में लिसा रे और शीतल सेठ ने एक बेहद कामुक लिप लॉक भी शेयर की था।

और खबरे पढ़े

Comment Box

    User Opinion
    Your Name :
    E-mail :
    Comment :

Latest Movies Wallpapers