भारतीय वायु सेना पर गर्व करने वाले कुछ फैक्ट्स

Views:21700


भारतीय सुरक्षा तंत्र में शामिल भारतीय वायु सेना (आईएएफ) आज दुनिया की सर्वश्रेष्ठ वायु सेना की लिस्ट में शामिल होती है। 8 अक्टूबर 1932 भारतीय वायु सेना आधिकारिक तौर पर स्थापित हुई थी और 1 अप्रैल 1933 को इसने पहली एसी फ्लाइट स्थापित की थी। सुरक्षा प्रदान करने के अपने कर्तव्य को पूरा करने वाली भारतीय वायु सेना ने कई मौके पर अपना लोहा साबित किया है।



इंडियन एयर फ़ोर्स हर साल 8 अक्टूबर को वायु सेना दिवस के रूप में मनाती है। आज हम आपको भारतीय वायुसेना के बारें में ऐसी प्रेरणादायक फैक्ट्स बताने जा रहे है जिनको जानकार आपको अपनी सेना पर अधिक गर्व हो जाएगा।



ताजिकिस्तान में एयरबेस : ताजिकिस्तान एकमात्र ऐसा विदेशी देश है जहाँ भारतीय वायुसेना के एयरबेस है। फारखोर और आयनी ताजिकिस्तान के पास स्थित भारत के दो एयरबेस है।

भारतीय वायुसेना का 4 स्थान : भारतीय वायु सेना से आगे केवल अमरीका रूस और चीन की वायुसेना है। भारतीय वायुसेना दुनिया की चौथी सबसे बड़ी वायु सेना है। भारत के पास 1,380 से अधिक एयरक्राफ्ट है।




इंडियन एयर फ़ोर्स का वर्ल्ड रिकॉर्ड : उत्तराखंड बाढ़ के समय राहत मिशन के दौरान नागरिकों बचाव करते हुए भारतीय वायुसेना के एक वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया था। बाढ़ के समय भारतीय वायु सेना के लगभग 20,000 नागरिकों को एयरलिफ्ट करते हुए सुरक्षित स्थानों पर पहुँचाया था।

फ्लाइंग ऑफिसर निर्मलजीत सिंह सेखों को परम वीर चक्र से नवाजा गया था : भारतीय वायु सेना के वीर सदस्य निर्मलजीत सिंह सेखों को 1971 के भारत-पाक युद्ध के दौरान साहस और उनके अद्भुत प्रदर्शन के लिए परमवीर चक्र से सम्मानित किया गया है।

महिला एयर मार्शल : पद्मवाती बंदोपाध्याय भारतीय वायु सेना की पहली महिला एयर मार्शल है इसके अतरिक्त विमानन चिकित्सा के क्षेत्र में विशेषज्ञ बनने वाली पहली महिला अधिकारी थी।



एशिया का सबसे बड़ा एयर बेस : गाजियाबाद के निकट स्थित हिंडन में स्थित भारतीय वायु सेना का एयर फोर्स स्टेशन दुनिया का 8 वां सबसे बड़ा और एशिया का सबसे बड़ा एयर बेस है।

महिलाओं की लड़ाकू पायलट टीम में भर्ती : एयर चीफ मार्शल अरूप राहा ने हाल ही जानकारी दी है कि भारतीय वायुसेना में महिला लड़ाकू पायलटों को शामिल या जाएगा। वर्तमान की बात करें तो 300 भारतीय महिला वायुसेना में पायलट है।



भारतीय वायुसेना का नई दिल्ली में संग्रहालय : नई दिल्ली के पालम में भारतीय वायुसेना का संग्रहालय स्थित है, वायुसेना के इस म्यूजियम का गठन साल 1932 में किया गया था। भारतीय वायु सेना के दिल्ली संग्रहालय में काफी दुर्लभ यादगार रखी हुई है।

गरुड़ कमांडो फोर्स की ट्रेनिंग : भारतीय वायु सेना के एक विशेष बलों की इकाई में शामिल गरुड़ कमांडो फोर्स को साल 2004 में स्थापित किया गया था। 2000 कर्मियों के साथ सजा यह दल अन्य की तुलना में अधिक समय तक प्रशिक्षण लेता है। गरुड़ कमांडो फोर्स अपने कौशल और बचाव कार्य के लिए पूरी दुनिया में प्रसिद्ध है।



5 स्टार रैंक लेने वाला सैन्य अधिकारी : फील्ड मार्शल सैम मानेकशॉ की मौत के बाद भारतीय वायु सेना के अर्जन सिंह 5-स्टार रैंक लेने वाले भारतीय सैन्य अधिकारी हैं।