भारत ने पहला सॉउन्डिंग राकेट साईकिल पर और दूसरा बैलगाड़ी पर ढोया था

Views:20017


आज भारत मंगल ग्रह तक पहुच गया है पर क्या आप जानते है अंतरिक्ष यात्रा का पहला चरण इसरो ने कब कैसे और किन हालातों में तय किया था। जितना रोचक सफर मंगल यान का है उससे भी अधिक रहस्मयी और रोमांचकारी सफर इसरो का है।


भारत का पहला राकेट शोध 1962 में ही होमी भाभा और विक्रम साराभाई की अगुवाई में शुरू हो गया था और उन्हें सफलता तब मिली जब भारत ने थुम्बा में 21 नवम्बर 1963 में अपना पहला सॉउन्डिंग राकेट लॉन्च कर खुशी मनाई।


आपको जानकर हैरानी होगी कि भारत ने पहला राकेट को लॉन्च करने के लिए नारियल पेड़ों में रखा लांच पैड बनाया था और उस समय कैथोलिक चर्च सेंट मैरी मुख्य कार्यालय हुआ करता था और हमारे वैज्ञानिको ने बिशप हाउस को ही अपना प्रयोगशाला रूम बना रखा था।





आपको हैरानी होगी भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के वैज्ञानिको ने पहले राकेट को एक स्थान से दुसरे स्थान तक ले जाने के लिए साईकिल का प्रयोग किया था और दूसरा राकेट जो कि काफी बड़ा और भारी था उसके लाने के लिए एक बैलगाड़ी का प्रयोग किया गया था।


1963 के बाद से भारत अब तक थुम्बा से अधिक 350 सॉउन्डिंग रॉकेट बना कर लांच कर चुका है और इस काम में भारत की सहायता संयुक्त राज्य अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस और सोवियत संघ जैसे देशों ने की है।

Revealing Ajab Gajab Facts About Jeans That You Need To Know

जींस पैंट से जुड़े अजब गजब फैक्ट्स का खुलासा

Continue Reading
Kangana Ranaut Face Family Drama After Debut Kissing Scene

कंगना राणावत के किसिंग सीन देख परिवार वालो ने बना ली थी दूरी

Continue Reading

Comment Box

    User Comments in

    भारत ने पहला सॉउन्डिंग राकेट साईकिल पर और दूसरा बैलगाड़ी पर ढोया था

    Avatar
    Posted By : Esteban
    Posted On : 2015-05-25
    Phnnmoeeal breakdown of the topic, you should write for me too!
    User Opinion
    Your Name :
    E-mail :
    Comment :