300 से अधिक वर्षों पहले इंग्लैंड की रास्ट्रीय भाषा फ्रेंच थी

Views:50388


इंग्लैण्ड को भारत की आम बोल चाल की भाषा में इंग्लिस्तान भी कहा जाता है। इंग्लैण्ड देश में प्रयोग में लाई जाने वाली अंग्रेजी भाषा आज भारत की कामकाजी भाषा के रूप खूब फल फुल रही है। आपको बता दे अंग्रेजी भाषा दुनिया के कई देशों में बोली जाने वाली पश्चिमी जर्मन भाषा है और इसका जन्म एंग्लो-सेक्सन इंग्लैंड में हुआ थाआज  380 मिलियन इंग्लैण्ड के देशी लोगो के अलावा विश्व में कई अन्य देश के लोग भी बोलते है। अंग्रेजी भाषा दुनिया की दूसरी सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है 18 वीं,19 वीं और 20 वीं शताब्दी में जब ब्रिटिश साम्राज्य के राजनीतिक,आर्थिक और सांस्कृतिक विस्तार के परिणाम स्वरूप यह अन्य देशों में बोलचाल की भाषा बन गयी
 




ब्रिटिश साम्राज्य और अंग्रेजी भाषा के बारे में बहुत कम लोग ये जानते होंगे की सदियों पहले इंग्लैण्ड में अंग्रेजी भाषा नही बल्कि कोई और भाषा बोली जाती थी। 300 से अधिक वर्षों पहले इंग्लैंड की रास्ट्रीय भाषा फ्रेंच थी। आज भी इंग्लैण्ड में बोले जाने वाली अंग्रेजी का रूप अलग-अलग देशों में अलग-अलग है। कहा जाता है कि अग्रेजी पर कई अन्य भाषाओं का प्रभाव रहा है और समय-समय पर अलग-अलग भाषाओं ने इसे प्रभावित किया है। उदाहरण के तौर पर 1880 के समय इंग्लैंड के अंदर “पैंट एक गन्दा शब्द माना जाता था पर आज वर्तमान में सारी दुनिया” पैंट का प्रयोग पोशाक जाँघिया या पतलून के लिए करता है।