एडिडास साम्राज्य के रचियता एडोल्फ डास्लर और कंपनी से जुड़े अज्ञात फैक्ट्स के बारें में अभी जानें

Views:27100


हम में से अधिकांश लोग एडिडास के जूते चप्पल या सैंडल की कम से कम एक जोड़ी के मालिक तो हैं लेकिन इस कंपनी को लेकर जानकारी की बात करें तो वह बहुत ही कम लोगो को होगी। विशाल ब्रांड एडिडास के पीछे की कहानी बहुत ही आकर्षक और दिलचस्प है। निश्चित ही यह सोचने का विषय है कि एडिडास के पीछे क्या संयोग है कि की इतना बड़ा ब्रांड आज भी खड़ा है। निश्चित ही हम जो जानकारी आपको इस लेख में देंगे वह अगली बार जब आप अपने एडिडास जूते का फीता बंधेंगे तो आपको जरुर याद आ जायेंगे।

आज हम कंपनी के संस्थापक और कंपनी से जुड़े कुछ ऐसे दिलचस्प फैक्ट्स शेयर करने जा रहे है जिसे हर किसी को जनाना चाहिए।



  • जर्मन जूता कंपनी एडिडास वास्तव में संस्थापक एडोल्फ डास्लर को शोर्ट है। एडि उनके प्रथम नाम से डास्लर से डास लिया गया है।




  • एक समय पर डास्लर परिवार टेबल पर खाना लगाने के लिए घर का बना चप्पल बेच दिया था।




  • एडॉल्फ ने पहला जूता तब बनाया था जब प्रथम विश्व युद्ध में रसोई घर को धोने की सेवा के बाद घर लौट रही थी।




  • एडॉल्फ और उनके बड़े भाई रुडोल्फ ने मिलकर डास्लर ब्रदर्स शू फैक्ट्री शुरू की थी लेकिन द्वितीय विश्व युद्ध के बाद दोनों की राहे अलग हो गयी रुडोल्फ ने बाद में प्यूमा कंपनी शुरू की जो आज एडिडास की एक बड़ी प्रतिद्वंदी कम्पनी है।




  • प्यूमा को शुरू में रूडा बुलाया जाता था क्योंकि रुडोल्फ डास्लर ने अपने भाई का आइडिया चुराने की कोशिश की थी इसके आलावा एडिडास नाम उनको अधिक कूल नही लगता था इसलिए वह प्यूमा के साथ चले गए।




  • दोनों भाई द्वितीय विश्व युद्ध में नाजी सेना का हिस्सा थे। एडि को जर्मनी के लिए हथियार बनाने के लिए कारखाने में रुकना होता था जबकि रुडोल्फ को पूर्व में रेड आर्मी के साथ भेजा गया था। दोनों भाई नाजी के साथ बड़ी सहानुभूति रखते थे।




  • हेरजोगएँऔरच वो शहर है जहां परिवार रहता है और प्रारंभिक कारखानों को यही पर खड़ा किया गया था। आज यह शहर दो हिस्सों में बाँट गए थे एक हिस्सा वह है जो एडिडास से प्यार करता है तो दूसरा हिस्सा वह है जो प्यूमा को प्यार करता है। इस शहर में लोग पहले आपके जूते देखेंगे फिर नमस्कार या उपेक्षा करेंगे।




  • हेरजोगएँऔरच टाउन के दो प्रतिद्वंद्वी फुटबॉल क्लब एसवी हर्जोगेनोराच क्लब और 1 एफसी हेरजोगएँऔरच को क्रमश: एडिडास और प्यूमा द्वारा स्पॉन्सर्ड किया जाता है।




  • एडिडास यूरोप में स्पोर्ट्सवियर बनाने वाली सबसे बड़ी कंपनी है और पूरी दुनिया की बात करें तो नाइके के बाद इसका दूसरा स्थान है।




  • एडिडास परिधान का पहला टुकड़ा ट्रैकशूट के रूप में फ्रांज बेकनबावर के लिए 1967 में बनाया था। उनको जर्मन के लीजेंड फुटबॉलर के रूप में जाना जाता है।




  • एडिडास की प्रसिद्धि प्राप्त करने से पहले जेसी ओवेन्स के लिए डास्लर जूता विशेष रूप डिज़ाइन किया गया था और और 1936 के बर्लिन ओलंपिक में उन्होंने 4 स्वर्ण पदक जीते। एडॉल्फ इसे ब्रांड की बड़ी लोकप्रियता का प्रमुख कारण मानते है।




  • 2015-16 में नाइके के स्थान पर मैनचेस्टर यूनाइटेड के साथ एडिडास ने 10 साल के लिए किट सौदा 750 मिलियन डॉलर में किया था। खेल के इतिहास में अभी तक का यह सबसे अधिक मूल्यवान किट सौदा है।




  • आपको जानकर हैरानी होगी कि एडिडास रिबॉक का भी मालिक है। 2005 में एडिडास ने 3.8 मिलियन डॉलर में कंपनी को खरीदा है।




  • कंपनी स्पॉन्सर्स के साथ-साथ स्वामित्व भी शेयर करती है। दिग्गज जर्मन फुटबॉलर यर्न म्यूनिख एडिडास में ओनरशिप भी शेयर करते है।




  • हेरजोगएँऔरच के एडि डास्लर स्टेडियम के बाहर एडि डास्लर की एक मूर्ति लगाकर उनको सम्मानित किया गया है।




  • रुडोल्फ के परिवार ने 1980 के दशक से प्यूमा साम्राज्य खो दिया है वहीं एडॉल्फ के वंशजों श्चिम जर्मनी पर एडिडास के नियंत्रण खो दिया है। यह तब हुआ था जब तीन धारियों पहने 1990 के विश्व कप के फाइनल में प्रवेश किया था वह दिन 4 जुलाई का दिन था।




  • कंपनी के मौजूदा सीईओ कैस्पर रोरस्टेड है वह एक डेनिश व्यापारी रह चुके है। वह युवाओं के स्तर पर अपने देश डेनमार्क के लिए हैंडबॉल भी खेल चुके है। 2016 के रूप में एडिडास का बाजारी पूंजीकरण $ 19 अरब के आसपास है।




  • एडॉल्फ की 6 सितंबर, 1978 को मृत्यु हो गई थी जबकि रुडोल्फ ने 27 अक्टूबर 1974 को अंतिम सांस ली थी। दोनों एक ही कब्रिस्तान में दफन है।