मिशेल हैइसमैन ने 2010 में खुद को मारने से पहले एक 1,905 पेज सुसाइड नोट को पांच साल में लिखा था

Views:9400


ऐसा कहा जाता है कि बहुत ही दुखी होकर जब इन्सान अपने दुखों को वयक्त नही कर पाता है तो निराशा की अवस्था में वह आत्महत्या करने का फैसला लेता है। आपको जानकर हैरानी होगी की इस दुनिया में एक शख्स ऐसा है जिसने सुसाइड नोट लिखने में पांच साल का वक्त लिया और उसके बाद अपनी जान ले ली। 35 वर्षीय सुंदर युवक मिशेल हैइसमैन ने 1,905 पन्नों के सुसाइड नोट को अपने पीछे छोड़ा था जिसके लिखने में उसने पांच साल बिताए थे जो मरणोपरांत उनकी ई-मेल में प्राप्त हुआ था।



शनिवार सुबह हार्वर्ड यार्ड में सबसे पवित्र दिन मिशेल ने खुद को सिल्वर रिवाल्वर से खुद को मेमोरियल चर्च में शूट कर लिया था। उस यहूदी दिवस के दिन सैकड़ों प्रायश्चित करने के लिए शीर्ष पर एकत्र हुए थे। मिशेल हैइसमैन के सुसाइड नोट में 1,433 फुटनोट, 20 पेज ग्रंथ भगवान के लिए 1700 से अधिक संदर्भ और जर्मन दार्शनिक फ्रेडरिक नीत्शे 200 संदर्भ के साथ विद्वानों की कई बातें लिखी गयी थी। हर शब्द, हर विचार और हर भावना में मुख्य समस्या जीवन व्यर्थ है का निष्कर्ष निकलता था।

परिवार के लोग मिशेल को बेहद सौहार्दपूर्ण और आकर्षक मानते थे उनकी माँ आत्महत्या से सदमे में थी क्योकि वह उत्तम स्वास्थ्य में था और इस सब को छिपा कर रखा था।